jan Aadhar card ( जन आधार कार्ड क्या है? )

AN AADHAR CARD RAJASTHAN

jan aadhar card Rajasthan में पहले से चल रहे भामाशाह कार्ड को रिप्लेस करेगा | यह कार्ड भी भामाशाह कार्ड की तरह ही होगा परन्तु इसमें और भी सुविधाए जोड़ी जा सकते है|

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने 2019-20 के बजट भाषण में घोषणा की थी कि “एक नंबर, एक कार्ड, एक पहचान” की विचारधारा के लिए rajasthan jan aadhar yojana स्वतंत्रा प्राधिकरण का गठन किया जायेगा|

इसके अंतर्गत jan adhar card बनाये जायेंगे|

इस योजना का उद्देश्य:

राज्य के निवासी परिवारों की जनसांख्यिकी एवं सामाजिक- आर्थिक (demographic and socio-economic) सूचनाओ का डाटाबेस तैयार कर प्रत्येक परिवार को “एक परिवार, एक कार्ड, एक पहचान ” प्रदान किया जाना है जिसे परिवार एवं उसके सदस्यों की पहचान (proof of identity) तथा पते (proof of address) दस्तावेज के रूप में मान्यता प्रदान करना है|

नकद लाभ प्रत्यक्ष लाभ हस्तारण (direct benefit transfer) के माध्यम से तथा गैर-नकद लाभ आधार/जन-आधार अधिप्रमाणन उपरांत देय|

राज्य के निवासियों को जनकल्याण की योजनाओं के लाभ उनके घर के समीप उपलब्ध कराना तथा ई कॉमर्स और बीमा सुविधाओं का ग्रामीण क्षेत्रों में विस्तार करना|

ई-मित्र तंत्र का विनियमन द्वारा नियंत्रण व प्रभावी संचालन करना|

राज्य में विद्यमान तकनिकी तथा इलेक्ट्रॉनिक ढांचे का विस्तार एवं सुद्रडीकर्ण किया जाना |

सरकार द्वारा प्रदत्त जनकल्याण के लाभों की योजनाओं हेतु परिवार और परिवार के सदस्यों की पात्रता निर्धारण करना|

विभिन्न योजनाओ के लाभ प्राप्ति के समय आधार अधिप्रमाणन को लाभार्थी के जीवितता प्रमाण – पत्र के रूप में मान्यता देना|

जन-आधार पंजीयन व जन-आधार कार्ड:

राज्य के सभी निवासी परिवार, पंजीयन कराने व जन- आधार कार्ड प्राप्त करने हेतु पात्र है|

प्रत्येक परिवार को एक 10 अंकीय परिवार पहचान संख्या सहित जन-आधार कार्ड प्रदान किया जायेगा|

परिवार द्वारा निर्धारित 18 वर्ष या उससे अधिक आयु की महिला को परिवार की मुखिया बनाया जायेगा| यदि परिवार में 18 वर्ष या उससे अधिक आयु की महिला नहीं है तो 21 वर्ष या उससे अधिक आयु का पुरुष मुखिया हो सकता है | यदि परिवार में 18 वर्ष या उससे अधिक आयु की महिला और 21 वर्ष या उससे अधिक आयु का पुरुष भी नहीं हो तो परिवार में अधिकतम आयु का कोई भी सदस्य, परिवार का मुखिया होगा|

विभिन्न प्रकार के परिवार कार्डों (यथा राशन कार्ड,आयुष्मान कार्ड इत्यादि) के स्थान पर राज्य के निवासी परिवारों को एकबारिय निःशुल्क जन-आधार कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा, जो बहुउद्देश्यीय कार्ड होगा| भविष्य में सभी जनकल्याण की योजनओं के लाभ/सेवाओं को इस कार्ड के आधार पर हस्तांतरित किया जाएगा|

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा भविष्य में स्वास्थ्य कार्ड जारी करने की आवश्यकता के मद्देनजर जन-आधार व्यक्तिगत कार्ड भी जारी किया जायेगा|

राज्य के पंजीकृत निवासियों द्वारा स्वयं जन-आधार डेटा रिपोजिटरी में दर्ज सूचनाओ को समय समय पर आवश्यकतानुसार अध्यतन कराया जा सकेगा|

जन आधार डेटा रिपॉजिटरी से एकीकृत अन्य योजनाओं के डेटाबेस में लाभार्थी की सुचना में अध्यतन होने पर जन आधार डेटा रिपॉजिटरी में भी उस निवासी की सूचनाओ में अध्यतन किया जा सकेगा(reverse seeding)|

परिवार के किसी भी सदस्य का आधार नामांकन होने पर उस सदस्य की आधार संख्या को जन आधार पोर्टल पर परिवार द्वारा दर्ज करवाना आवश्यक होगा|

jan aadhar card के फायदे :

यह कार्ड भामाशाह कार्ड को रिप्लेस करेगा और उसकी जगह आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लाभों को भी जोड़ा जायेगा| भामाशाह कार्ड के अंतर्गत चलने वाली भामाशाह स्वाथ्य बीमा योजना 1 सितम्बर से आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना कहलाएगी|

फ़िलहाल भामाशाह योजना 12 दिसंबर,2019 तक लागु है|

अभी भामाशाह में साधारण बीमारी में 30 हजार तक आर्थिक सहायता देय है| गंभीर बीमारी होने पर 3 लाख तक की आर्थिक सहायता दी जाती है|

13 दिसम्बर से आयुष्मान भारत से जुड़ने के बाद आर्थिक सहायता 5 लाख तक हो जाएगी|

जनआधार कार्ड ( Jan Aadhar Card ) से संबंधित पूरे परिवार को उपचार का लाभ मिलेगा।

सरकारी व गैर सरकारी दोनों तरह के चिह्नित अस्पतालों में उपचार मिलेगा ।

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना की तरह केश्लेस उपचार होगा|

नकद व गैर-नकद लाभों की प्रदायगी:

नकद लाभ- पात्रता अनुसार देय सभी परिवार नकद लाभ सीधे परिवार के मुखिया के बैंक खाते में हस्तांतरित किये जायेंगे| व्यक्तिगत नकद लाभ सम्बंधित लाभार्थी के बैंक खाते में, यदि लाभार्थी का बैंक खाता नहीं है तो परिवार के मुखिया के बैंक खाते में हस्तांतरित किए जाएंगे|

गैर नकद लाभ- पात्रता अनुसार देय सभी पारिवारिक गैर नकद लाभ परिवार का कोई भी व्यस्क सदस्य तथा व्यक्तिगत गैर नकद लाभ सम्बंधित लाभार्थी (अवयस्क लाभार्थी की स्थिति में परिवार का मुखिया) स्वयं के आधार अधिप्रमाणन उपरांत प्राप्त कर सकेगा|

पोर्टल्स(portals) का एकीकरण(integration):

परिवार को प्रदान किए जाने वाले विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभो से सम्बंधित एप्लीकेशनों को जन आधार पोर्टल से चरणबद्ध रूप से एकीकृत किया जाएगा|

एकीकरण के पश्चात् सम्बंधित विभागों की एप्लीकेशनों द्वारा योजनाओं का लाभ जन-आधार परिवार पहचान संख्या के माध्यम से ही हस्तांतरित किया जाएगा तथा इसका विवरण जन-आधार प्लेटफार्म से साँझा किया जाएगा|

राज्य में अधिकांश आबादी कृषि पर निर्भर करती है, अतः किसानों के उत्थान हेतु संचालित सभी योजनाओं को प्राथमिकता से राजस्थान जन-आधार पोर्टल से जोड़ा जायेगा ताकि उन्हें प्राप्त होने वाले सभी नकद व गैर नकद लाभ एवं सेवाएँ सीधे व पारदर्शी रूप से समय पर प्राप्त हो सके|

जिन जनकल्याणकारी योजनाओं के डेटाबेस एवं भुगतान का ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म वर्तमान में उपलब्ध नहीं है , उन सेवाओं एवं परिलाभो हेतु जन-आधार प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से लाभ हस्तांतरण सुनिश्चित किया जाएगा|

जन कल्याणकारी योजनाओ हेतु लाभार्थियों की पात्रता के निर्धारण का माध्यम

सभी विभागों द्वारा जन- आधार डेटा रिपॉजिटरी के माध्यम से ही परिवार की पात्रता निर्धारित कर सेवाए/लाभ हस्तांतरित किये जायेंगे|

यदि किसी परिवार लप अपनी पात्रता/दर्ज सुचनाओ में किसी भी प्रकार का परिवर्तन अपेक्षित होगा तो जन आधार डेटा रिपॉजिटरी में ही परिवर्तन करवाना होगा | विभागीय योजनाओं में पृथक से अध्यतन करने की आवश्यकता नहीं रहेगी|

जीवितता प्रमाण-पत्र के रूप में मान्य

विभिन्न सरकारी योजनाओं जैसे- सामाजिक सुरक्षा पेंशन आदि के लाभार्थियों को वर्ष में सम्बंधित प्रशासनिक विभाग द्वारा निर्धारित अन्तराल में जीवित होने का सत्यापन करवाना होता है| ऐसी योजनाओं हेतु लाभार्थी वर्ष में निर्धारित अन्तराल में कभी भीजन आधारद्वारा स्थापित तंत्र के माध्यम से होने वाले अधिप्रमाणन से कोई लाभ/सेवा अर्जित करता है, जैसे- राशन लेना,आधार/जन – आधारअद्यतन इत्यादि तो ऐसे लाभार्थी को जीवित मानते हुए जिवितता प्रमाण पत्र हेतु प्रथक से बायोमेट्रिक सत्यापन की आवश्यकता नहीं होगी|

ई-साईन के माध्यम से प्रमाणीकरण:

राजस्थान जन-आधार योजना के तहत होने वाले विभिन्न पंजीयन में ई-साईन सेवा का प्रयोग करके प्रमाणीकरण के द्वारा और बेहतर बनाया जाएगा|

पात्रता:

jan aadhar card के अंतर्गत आयुष्मान भारत राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना में वे ही पात्र हैं जो वर्ष 2011 की सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना में गरीबी रेखा से नीचे पाए गए थे। इसके लिए कोई भी व्यक्ति वेबसाइट pmjy.gov.in पर अपने राशनकार्ड, आधार कार्ड या 2011 में जनगणना के समय दिए गए किसी अन्य नंबर के आधार पर अपना नाम सूची में देख सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *